वाराणसी जिलाधिकारी ने की रिमांड मजिस्ट्रेट व्यवस्था समाप्त, संबंधित को मिली जिम्मेदारी


रिपोर्ट साधना सिंह एडवोकेट विधि संवाददाता

वाराणसी। कौशल राज शर्मा ने जनपद के सभी थानों के चालानी रिपोर्ट व गिरफ्तार व्यक्तियों को एक ही मजिस्ट्रेट के यहां पेश किए जाने की व्यवस्था को समाप्त कर दिया है। डीएम ने संबंधित थानों से आने वाले व्यक्तियों, गिरफ्तार व्यक्तियों एवं रिमांड मजिस्ट्रेट को होने वाली कठिनाइयों तथा बाद में उन सभी चालानी रिपोर्ट को कार्यालयों में भेजने में विलंब को देखते हुए किया है। डीएम ने बताया कि रिमांड मजिस्ट्रेट की व्यवस्था समाप्त करते हुए संबंधित मजिस्ट्रेट को जिम्मेदारी सौंपी गई है।

उन्होंने बताया कि अपर नगर मजिस्ट्रेट (प्रथम) लंका, भेलूपुर एवं मंडुआडीह थाना, अपर नगर मजिस्ट्रेट (द्वितीय) चौक, दशाश्वमेध एवं लक्सा थाना, अपर नगर मजिस्ट्रेट (तृतीय) चेतगंज, जेतपुरा एवं सिगरा थाना, अपर नगर मजिस्ट्रेट (चतुर्थ) को कैंट, सारनाथ, लालपुर पांडेयपुर, शिवपुर और पर्यटक थाना, अपर नगर मजिस्ट्रेट (पंचम) कोतवाली, आदमपुर, रामनगर एवं महिला थाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसी प्रकार उप जिला मजिस्ट्रेट सदर को लोहता, चौबेपुर, चोलापुर एवं रोहनिया थाना, उप जिला मजिस्ट्रेट को पिंडरा, सिंधोरा, फूलपुर एवं बड़ागांव थाना तथा उप जिला मजिस्ट्रेट राजातालाब को मिर्जामुराद, जंसा एवं कपसेठी थाना की जिम्मेदारी दी गई है। संबंधित मजिस्ट्रेट अवकाश के दिनों में भी अपने-अपने थानों की चालानी रिपोर्ट धारा-107, 116 और 151 प्राप्त कर विधि सम्मत निस्तारण करेंगे। किसी मजिस्ट्रेट के अवकाश पर होने पर उनके लिंक अफसर उनके कार्यों को संपादित करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *