छात्रसंघ चुनाव के लिए विद्यापीठ में तोड़फोड़

रिपोर्ट साधना सिंह एडवोकेट विधि संवाददाता

वाराणसी : महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में छात्रसंघ चुनाव को लेकर शुक्रवार को छात्रों ने जमकर हंगामा किया। तिथि घोषित न होने के विरोध में शताब्दी समारोह के तहत केंद्रीय पुस्तकालय में चल रहे पुस्तक मेला में तोड़फोड़ की और बुक स्टालों को पलट दिया। प्रशासनिक भवन के कार्यालय को बंद करा दिया। इस दौरान लाइब्रेरी के पास खड़ी एक कार का शीशा भी टूट गया। शताब्दी समारोह के तहत खेल मैदान में चल रहे क्रिकेट मैच को बाधित करने की कोशिश की। इसी बीच काफी संख्या में पुलिस पहुंच गई। वह छात्रों को खदेड़ कर केंद्रीय कार्यालय तक ले गई। इससे छात्र और भड़क गये।

चुनाव को लेकर समिति कक्ष में छात्रनेताओं के साथ एक बैठक बुलाई गई थी। इसमें प्रशासनिक अधिकारी भी मौजूद थे। मामला तब बिगड़ गया, जब प्रशासनिक अधिकारियों ने बताया कि अभी छात्रसंघ चुनाव कराना संभव नहीं है। रविदास जयंती के बाद जब पुलिस फोर्स खाली होगी, तब चुनाव के लिए समय दिया जाए। अगर विश्वविद्यालय प्रशासन चुनाव कराना चाहता है तो अपनी व्यवस्था से कराए। यह बात विश्वविद्यालय को लिखकर देनी होगी। जिला प्रशासन के रुख पर विश्वविद्यालय प्रशासन असमंजस में पड़ गया। चुनाव अधिकारी प्रो. केएस जायसवाल ने कहा कि अगर प्रशासन की मदद नहीं मिलेगी, तो छात्रसंघ चुनाव अभी नहीं होगा। पुलिस फोर्स की उपलब्धता पर ही चुनाव कराना संभव होगा। इस बात पर छात्र भड़क गए। वह जल्द चुनाव तिथि घोषित करने को लेकर हंगामा करने लगे।

हंगामा शांत होने पर प्रशासनिक भवन में फिर छात्रों, चुनाव अधिकारी तथा पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक हुई। छात्रों को समझाया गया कि वे शताब्दी समारोह का ध्यान रखें। ऐसी कोई कार्य न करें, जिससे समारोह में बाधा आए। मगर छात्र अपनी जिद पर अड़े रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *