धोखाधड़ी के आरोपित को मिली जमानत

रिपोर्ट साधना सिंह एडवोकेट विधि संवाददाता
वाराणसी। दूसरे की जमीन की गलत ढंग से चौहद्दी दिखाकर जमीन का बैनामा करने के मामले में आरोपित को जमानत मिल गयी। विशेष न्यायाधीश (एससी/एसटी एक्ट) संजीव कुमार सिन्हा की अदालत ने नक्खीघाट (जैतपुरा) निवासी आरोपित शमशाद को 50-50 हजार रुपए की दो जमानतें एवं बंधपत्र देने पर रिहा करने का आदेश दिया। अदालत में बचाव पक्ष की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता फौजदारी अनुज यादव व उनके सहयोगी अभिषेक श्रीवास्तव ‘पंकज’ ने पक्ष रखा।

अभियोजन के अनुसार मिर्जापुर जनपद के पटिहरा, अहरौरा निवासी ओमप्रकाश ने 13 अप्रैल 2019 को जैतपुरा थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई थी। आरोप था कि नक्खीघाट (जेतपुरा) निवासी धन्नू ने उसकी अलईपुरा (नक्खीघाट) स्थित जमीन को गलत ढंग से चौहद्दी दर्शाकर अनवार अहमद अंसारी, शहनाज बेगम व कमरुद्दीन के पक्ष में रजिस्ट्री कर दिया। इस बीच 19 दिसम्बर 2017 को जब ओमप्रकाश अपनी पत्नी मंजू देवी व भतीजी आरती के साथ अपनी जमीन पर पहुंचा और घूमकर जमीन देख रहा था। उसी दौरान कमरुद्दीन, जलालुद्दीन, सलाउद्दीन अपने कुछ साथियों के साथ वहां पहुंचकर उनसे पूछताछ करने लगा। इस पर जब वादी ने उक्त जमीन को अपना बताया तो वह लोग उक्त जमीन को रजिस्ट्री करा लेने की बात कहते हुए उसे गालियां देते हुए मारने-पीटने लगे। शोर सुनकर जब आसपास के लोग जुटने लगे तो हमलावर उसके पत्नी के गले से सोने का मंगलसूत्र छीनकर जान से मारने की धमकी देते हुए वहां से भाग निकले।.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *