प्रापर्टी डीलर की हत्या के मामले में मुन्ना बजरंगी के सहयोगी संजय राव समेत दो दोषमुक्त

प्रापर्टी डीलर की हत्या के मामले में मुन्ना बजरंगी के सहयोगी संजय राव समेत दो दोषमुक्त

रिपोर्ट साधना सिंह एडवोकेट विधि संवाददाता
वाराणसी जमीन पर कब्जे को लेकर अधेड़ की गोली मारकर हत्या करने के मामले में आरोपित माफिया मुन्ना बजरंगी के सहयोगी को कोर्ट से बड़ी राहत मिल गयी। अपर सत्र न्यायाधीश (द्वितीय) अशोक कुमार सिंह यादव की अदालत ने आरोपित महमूरगंज, सिगरा निवासी संजय राव व उनके चालक बरपुर (जौनपुर) निवासी शिवशंकर यादव को आरोप सिद्ध न होने पर संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिवा। वहीं अदालत ने आर्म्स एक्ट के मामले में भी शिवशकर यादव को दोषमुक्त कर दिया। अदालत में बचाव पक्ष की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता फौजदारी अनुज यादव, बृजपाल सिंह यादव व बिनीत सिंह ने पक्ष रखा।

अभियोजन पक्ष के अनुसार रामापुरा निवासी नीरज जायसवाल ने लक्सा थाने में तहरीर दिया था। आरोप था कि उसके चाचा दिनेश जायसवाल प्रापर्टी डीलिंग का काम करते थे। उसके चाचा ने अपने दो पार्टनरों के साथ मिलकर रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम अस्पताल से पश्चिम तरफ सटे उत्सव वाटिका नामक एक लॉन की रजिस्ट्री कराई थी। उस लॉन पर राजदेव का कब्जा था। चाचा के द्वारा लॉन को रजिस्ट्री करा लेने के चलते राजदेव का उसके चाचा से कब्जेदारी को लेकर विवाद चल रहा था। इस बीच 29 अप्रैल 2008 को रात्रि लगभग 10 बजे उसके चाचा दिनेश जायसवाल व राजदेव तथा उनके दो-तीन साथी सरस्वती सिनेमा के सामने रामापुरा गली में एक मंदिर के समीप बातचीत कर रहे थे। उसी दौरान किसी बात को लेकर हुए विवाद में उसके चाचा को गोली मार दी गयी। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस उसके चाचा को उपचार के लिए लेकर कबीरचौरा अस्पताल ले गए, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

अदालत ने बचाव पक्ष की दलील सुनने, गवाहों के बयान व पत्रावली के अवलोकन के बाद दोनों आरोपितों को साक्ष्य के आभाव में संदेह का लाभ देते हुए दोषमुक्त कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *