दुकान मे घुसकर जबरन शराब पीने का विरोध करने पर प्राणघातक हमला करनें वालें आरोपितों को मिलीं जमानत

रिपोर्ट साधना सिंह एडवोकेट विधि संवाददाता
वाराणसी। दुकान में घुसकर जबरन शराब पीने का विरोध करने पर प्राणघातक हमला करनें के मामले में दो आरोपियों को जमानत मिल गयी। अपर सत्र न्यायधीश (प्रथम) राजेश्वर शुक्ला की अदालत ने आरोपितों सुनील बिंद व प्रिंस सिंह को 50-50 हजार रुपए के दो जमानतें एवं बंधपत्र देने पर रिहा करने का आदेश दिया। अदालत में बचाव पक्ष की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता फौजदारी अनुज यादव व विकास सिंह ने पक्ष रखा।

दुकान के अंदर बैठकर शराब पीने की मांग पर हुआ था झगड़ा
अभियोजन के अनुसार भोगाबीर, संकटमोचन थाना (लंका) निवासी अखिलेश पटेल ने 13 मई 2015 को भेलूपुर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई थी। आरोप था कि लखराव में रणविजय सिंह की बियर शाप है, जिसका वह पार्टनर है। 12 मई 2015 को वह अपने शॉप पर बैठा था। उसी दौरान रात्रि 10 बजे सुनील बिंद व प्रिंस सिंह मेरे दुकान पर आए और दुकान के अंदर बैठकर शराब पीने की मांग करने लगे। मना करने पर वह लोग जबरदस्ती दुकान में घुस गए और गालियां देते हुए लात-घूंसों से मारने-पीटने लगे। इस दौरान मैं जब जमीन पर गिर गया तो प्रिंस सिंह ने लोहे की रॉड से मेरे सिर पर प्रहार कर दिया, जिससे मैं लहूलुहान होकर वहीं अचेत हो गया। शोर सुनकर मौके पर मौजूद अरमान अली व प्रदीप पटेल ने बीचबचाव किया, जिसके बाद दोनों हमलावर जान से मारने की धमकी देते हुए वहां से भाग निकले। उसके बाद उनलोगों ने उसे उपचार के लिए पापुलर अस्पताल में भर्ती कराया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *