धोनी का प्रहार और ब्रावो-ताहिर की धार से चेन्नई ने लगाई जीत की हैट्रिक: IPL 2019

गत चैंपियन चेन्नई ने रविवार को अपने ही घर में खेलते हुए राजस्थान रॉयल्स को आठ रन से हरा दिया. राजस्थान के सामने जीत के लिए 176 रनों का लक्ष्य था लेकिन वह आठ विकेट खोकर 167 रन बना सकी. आखिरी ओवर में राजस्थान को जीत का परचम लहराने के लिए 12 रनों की ज़रूरत थी. ब्रावो की पहली ही गेंद पर ख़तरनाक़ होते जा रहे बेन स्टोक्स का कैच सुरेश रैना ने अपने सुरक्षित हाथों में थाम लिया. अब मैच चेन्नई की झोली में आ गया. स्टेडियम में ब्रावो-ब्रावो के शोर के बीच दूसरी गेंद पर नए बल्लेबाज़ श्रेयस गोपाल कोई रन नहीं बना सके. तीसरी गेंद पर एक रन लेग बाई से बना. उसके बाद चौथी गेंद पर तो ब्रावो की यार्कर से ज्योफ्रा आर्चर का बल्ला ही टूट गया. वैसे इस बीच एक रन ज़रूर बना. पांचवी गेंद पर श्रेयस गोपाल का ऊंचा शॉट इमरान ताहिर ने कैच में बदला और मैच भी चैन्नई के कब्ज़े में आ गया. आखिरी गेंद पर आर्चर केवल एक रन बना सके. वह 11 गेंदों पर 24 रन बनाकर नाबाद रहे.

ब्रावो और धोनी

राजस्थान के लिए आर्चर के अलावा बेन स्टोक्स ने 46 और राहुल त्रिपाठी ने 39 रन बनाए. चेन्नई की ओर से स्पिनर इमरान ताहिर ने 23 रन देकर दो और ड्वेन ब्रावो ने भी 32 रन देकर दो विकेट हासिल किए. तीन मैच और तीनों में जीत हासिल कर फिलहाल चेन्नई अंकतालिका में सबसे ऊपर मौजूद है. इससे पहले चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी टॉस भले ही हार गए लेकिन पहले बल्लेबाज़ी की दावत मिलने पर उन्होंने निर्धारित 20 ओवर में पांच विकेट खोकर 175 रन बनाए.

धोनी का बल्ला चला

आईपीएल में अक्सर धोनी पर आरोप लगते रहते हैं कि वह बहुत नीचे बल्लेबाज़ी करने आते हैं और उनमें तेज़ी से रन बनाने की क्षमता नहीं रही. लेकिन रविवार को तो धोनी ने सारे सवालों के जवाब देते हुए केवल 46 गेंदों पर चार चौके और चार छक्के लगाते हुए नाबाद 75 रन बनाए. यह धोनी का चेन्नई में आईपीएल में बनाया गया सर्विधिक स्कोर है. धोनी ने अपनी टीम को तब संभाला जब एक समय उनके चार विकेट केवल 88 रन पर गिर चुके थे. धोनी ने साबित किया कि वह क्रीज़ के राजा है. एक बार उनका पांव अगर पिच पर जम तो वह अंगद के पांव जैसा हो जाता है. कहां तो अंबाती रायडू, शेन वाटसन और केदार जाधव जिस पिच पर राजस्थान के गेंदबाज़ों को खेलने में नाकाम रहे वहीं उसी पिच पर धोनी ने साबित कर दिया कि पिच कोई भी हो उनके बल्ले को जवाब देना आता है. धोनी के अपने पुराने साथी सुरेश रैना का भी ख़ूब साथ मिला. सुरेश रैना ने उपयोगी 36 रन बनाए. धोनी और रैना के बीच पांचवे विकेट के लिए बेहद महत्वपूर्ण 56 रनों की साझेदारी हुई. रैना के आउट होने के बाद ड्वेन ब्रावो ने 16 गेंदों पर तेज़तर्रार 27 रन ठोककर चेन्नई को निर्धारित 20 ओवर में पांच विकेट पर 175 रन तक पहुंचने में मदद की.

धोनी और रैना

आरसीबी की बेहद बुरी हार

वहीं इससे पहले रविवार को खेले गए दिन के पहले मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद ने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को बुरी तरह हराया. अपनी आक्रामकता के लिए जाने-जाने वाले कप्तान विराट कोहली की टीम को हैदराबाद के हाथों 118 रन से करारी मात का सामना करना पड़ा. बैंगलोर के सामने जीत के लिए 232 रनों का विशाल लक्ष्य मिला था जिसके जवाब में वह मैच की एक गेंद शेष रहते 113 रनों पर ही ढेर हो गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *